Akbar Masoom's Photo'

अकबर मासूम

1960 - 2019 | कराची, पाकिस्तान

ग़ज़ल 12

शेर 10

अब तुझे मेरा नाम याद नहीं

जब कि तेरा पता रहा हूँ मैं

वो और होंगे जो कार-ए-हवस पे ज़िंदा हैं

मैं उस की धूप से साया बदल के आया हूँ

है मुसीबत में गिरफ़्तार मुसीबत मेरी

जो भी मुश्किल है वो मेरे लिए आसानी है

पुस्तकें 1

Be Sakhta

 

2018

 

"कराची" के और शायर

  • ज़ीशान साहिल ज़ीशान साहिल
  • आरज़ू लखनवी आरज़ू लखनवी
  • अनवर शऊर अनवर शऊर
  • सलीम कौसर सलीम कौसर
  • दिलावर फ़िगार दिलावर फ़िगार
  • पीरज़ादा क़ासीम पीरज़ादा क़ासीम
  • क़मर जलालवी क़मर जलालवी
  • उबैदुल्लाह अलीम उबैदुल्लाह अलीम
  • अज़रा अब्बास अज़रा अब्बास
  • सीमाब अकबराबादी सीमाब अकबराबादी