Taleef Haidar's Photo'

तालीफ़ हैदर

1987 | दिल्ली, भारत

ग़ज़ल 14

शेर 12

वो एक लम्हा जिसे तुम ने मुख़्तसर जाना

हम ऐसे लम्हे में इक दास्ताँ बनाते हैं

ख़ुदा वजूद में है आदमी के होने से

और आदमी का तसलसुल ख़ुदा से क़ाएम है

उसे कहाँ हमें क़ैदी बना के रखना था

हमीं को शौक़ नहीं था कभी रिहाई का

पुस्तकें 3

ख़्वाजा मीर दर्द: हयात-ओ-इंतिक़ादियात

 

2018

Tafkeerat

 

2019

 

वीडियो 9

This video is playing from YouTube

वीडियो का सेक्शन
शायर अपना कलाम पढ़ते हुए
Thahra nahin hunar mera ek manzil e kamaal par

Taleef Haider: Young Taleef who is the son of noted poet Fasih Akmal, was born on 1st Sep 1987 at Vasai, Maharashtra. He is currently associated with Delhi Doordarshan. Taleef Haider reciting his ghazal at Rekhta Studio. तालीफ़ हैदर

तालीफ़ हैदर

Taleef Haidar is a young poet from Delhi. He is reading his ghazals at Rekhta Studio. तालीफ़ हैदर

आहिस्ता-रवी शहर को काहिल न बना दे

तालीफ़ हैदर

तमाम शहर ही तेरी अदा से क़ाएम है

तालीफ़ हैदर

दर्द-आमेज़ है कुछ यूँ मिरी ख़ामोशी भी

तालीफ़ हैदर

नई ज़मीनों को अर्ज़-ए-गुमाँ बनाते हैं

तालीफ़ हैदर

बस एक शय मिरे अंदर तमाम होती हुई

तालीफ़ हैदर

यूँ भी तो तिरी राह की दीवार नहीं हैं

तालीफ़ हैदर

सवाल क्या है जवाब क्या है

तालीफ़ हैदर

ऑडियो 12

आहिस्ता-रवी शहर को काहिल न बना दे

तमाम शहर ही तेरी अदा से क़ाएम है

दर्द-आमेज़ है कुछ यूँ मिरी ख़ामोशी भी

Recitation

aah ko chahiye ek umr asar hote tak SHAMSUR RAHMAN FARUQI

"दिल्ली" के और शायर

  • सरफ़राज़ ख़ालिद सरफ़राज़ ख़ालिद
  • अज़हर गौरी अज़हर गौरी
  • अशहर हाशमी अशहर हाशमी
  • शीस मोहम्मद इस्माईल आज़मी शीस मोहम्मद इस्माईल आज़मी
  • ज़फ़र अनवर ज़फ़र अनवर
  • मुग़ल फ़ारूक़ परवाज़ मुग़ल फ़ारूक़ परवाज़
  • आज़िम कोहली आज़िम कोहली
  • मोहम्मद अली तिशना मोहम्मद अली तिशना
  • बलवान सिंह आज़र बलवान सिंह आज़र
  • अभिनंदन पांडे अभिनंदन पांडे