Zafar Moradabadi's Photo'

ज़फ़र मुरादाबादी

1951 | दिल्ली, भारत

ग़ज़ल 10

शेर 7

ख़ुश-गुमाँ हर आसरा बे-आसरा साबित हुआ

ज़िंदगी तुझ से तअल्लुक़ खोखला साबित हुआ

कारवाँ से जो भी बिछड़ा गर्द-ए-सहरा हो गया

टूट कर पत्ते कब अपनी शाख़ पर वापस हुए

यूँही किसी की कोई बंदगी नहीं करता

बुतों के चेहरों पे तेवर ख़ुदा के रक्खे थे

पुस्तकें 7

Aaina-e-Fan-o-Shakhsiyat Mein Waqar Manvi

 

2010

अदबी क़लमकार

 

2008

Adabi Shakhsiyat

 

2007

अश्क लहजे

 

2009

Main Hun Shair

 

2014

Waqar-e-Ghazal

 

2012

 

"दिल्ली" के और शायर

  • राशिद जमाल फ़ारूक़ी राशिद जमाल फ़ारूक़ी
  • नियाज़ हैदर नियाज़ हैदर
  • अबीर अबुज़री अबीर अबुज़री
  • नश्तर अमरोहवी नश्तर अमरोहवी
  • नज़्मी सिकंदराबादी नज़्मी सिकंदराबादी
  • मीर शम्सुद्दीन फ़क़ीर मीर शम्सुद्दीन फ़क़ीर
  • शहबाज़ नदीम ज़ियाई शहबाज़ नदीम ज़ियाई
  • सलाहुद्दीन परवेज़ सलाहुद्दीन परवेज़
  • ख़ालिद महमूद ख़ालिद महमूद
  • अरशद कमाल अरशद कमाल