noImage

सुदरशन

1896 - 1967

उर्दू के प्रथम पंक्ति के कहानीकारों में शामिल, प्रेमचंद के समकालिक, प्रेम और ग्राम्य जीवन को विषय बनानेवाली कहानियों के लिए प्रसिद्ध

उर्दू के प्रथम पंक्ति के कहानीकारों में शामिल, प्रेमचंद के समकालिक, प्रेम और ग्राम्य जीवन को विषय बनानेवाली कहानियों के लिए प्रसिद्ध

सुदरशन के ई-पुस्तक

सुदरशन द्वारा संकलित पुस्तकें

3

Guldasta-e-Sukhan

1922

क़ाैम परस्त

1931

क़ुदरत के खेल