शकरगढ़ के शायर और अदीब

कुल: 1

जगजीत सिंह की गाई अपनी नज़्म ' तेरे ख़ुशबू में बसे ख़त मैं जलाता कैसे ' के लिए चर्चित

बोलिए