मिरी ज़िंदगी है ज़ालिम तिरे ग़म से आश्कारा

शकील बदायुनी

मिरी ज़िंदगी है ज़ालिम तिरे ग़म से आश्कारा

शकील बदायुनी

MORE BYशकील बदायुनी

    मिरी ज़िंदगी है ज़ालिम तिरे ग़म से आश्कारा

    तिरा ग़म है दर-हक़ीक़त मुझे ज़िंदगी से प्यारा

    My life is lit up, cruel one, by the grief you give

    Sans this sorrow, I confess, I'd rather die than live

    वो अगर बुरा मानें तो जहान-ए-रंग-ओ-बू में

    मैं सुकून-ए-दिल की ख़ातिर कोई ढूँढ लूँ सहारा

    In this many splendoured world, if it does not offend

    Her, to console my heart I will, seek another friend

    मुझे तुझ से ख़ास निस्बत मैं रहीन-ए-मौज-ए-तूफ़ाँ

    जिन्हें ज़िंदगी थी प्यारी उन्हें मिल गया किनारा

    I have a special bond with you, to stormy waves I owe my thanks

    Those that were in love with life, have made their way to the banks

    मुझे गया यक़ीं सा कि यही है मेरी मंज़िल

    सर-ए-राह जब किसी ने मुझे दफ़अ'तन पुकारा

    I then came to believe it was, my goal, my destiny

    When someone in my path called out to me repeatedly

    ये ख़ुनुक ख़ुनुक हवाएँ ये झुकी झुकी घटाएँ

    वो नज़र भी क्या नज़र है जो समझ ले इशारा

    Gentle breezes blow, these clouds, also hang so low

    Eyes are useless if they don’t discern signs even now

    मैं बताऊँ फ़र्क़ नासेह जो है मुझ में और तुझ में

    मिरी ज़िंदगी तलातुम तिरी ज़िंदगी किनारा

    My counsellor, the difference 'tween, my existence and yours

    Mine is like the stormy seas and yours is like the shores

    मुझे फ़ख़्र है इसी पर ये करम भी है मुझी पर

    तिरी कम-निगाहियाँ भी मुझे क्यूँ हों गवारा

    Pride an this favour I do feel, as its for me especially

    Why should not your callousness, be a source of joy for me

    मुझे गुफ़्तुगू से बढ़ कर ग़म-ए-इज़्न-ए-गुफ़्तुगू है

    वही बात पूछते हैं जो कह सकूँ दोबारा

    Her behest for me to speak causes me more pain

    She asks the very thing that I, cannot say again

    कोई 'शकील' पूछे ये जुनूँ नहीं तो क्या है

    कि उसी के हो गए हम जो हो सका हमारा

    But for madness what is this, can anyone divine?

    I am hers forevermore, who never can be mine

    वीडियो
    This video is playing from YouTube

    Videos
    This video is playing from YouTube

    पीनाज़ मसानी

    पीनाज़ मसानी

    RECITATIONS

    नोमान शौक़

    नोमान शौक़

    नोमान शौक़

    मिरी ज़िंदगी है ज़ालिम तिरे ग़म से आश्कारा नोमान शौक़

    Additional information available

    Click on the INTERESTING button to view additional information associated with this sher.

    OKAY

    About this sher

    Lorem ipsum dolor sit amet, consectetur adipiscing elit. Morbi volutpat porttitor tortor, varius dignissim.

    Close

    rare Unpublished content

    This ghazal contains ashaar not published in the public domain. These are marked by a red line on the left.

    OKAY