riyaz-ul-bahr

इमदाद अली बहर

मतबा मुस्तफ़ाई, लखनउ
1837 | अन्य

लेखक: परिचय

इमदाद अली बहर

इमदाद अली बहर

बह्र, शेख़ इमदाद अली लखनऊ के बाशिंदे और लखनवी शाइरी की पहचान, ‘नासिख़’, के शागिर्द। भाषा और छंद विघान के विद्वान थे। कुछ दिन रामपुर में रहे। अफ़ीम का शौक़ था। ज़िंदगी में बिखराव बहुत था, इस लिए अपनी शाइरी यकजा नहीं रखी। दीवान मौत के बाद संकलित और प्रकाशित हुआ।

.....और पढ़िए

लोकप्रिय और ट्रेंडिंग

पूरा देखिए

पुस्तकों की तलाश निम्नलिखित के अनुसार

पुस्तकें विषयानुसार

शायरी की पुस्तकें

पत्रिकाएँ

पुस्तक सूची

लेखकों की सूची

विश्वविद्यालय उर्दू पाठ्यक्रम