गर्मी-ए-हसरत-ए-नाकाम से जल जाते हैं

क़तील शिफ़ाई

गर्मी-ए-हसरत-ए-नाकाम से जल जाते हैं

क़तील शिफ़ाई

MORE BY क़तील शिफ़ाई

    गर्मी-ए-हसरत-ए-नाकाम से जल जाते हैं

    हम चराग़ों की तरह शाम से जल जाते हैं

    I burn up in the flames of unfulfilled desire

    like lanterns are, at eventide I am set afire

    शम्अ' जिस आग में जलती है नुमाइश के लिए

    हम उसी आग में गुमनाम से जल जाते हैं

    the fire,that the flame burns in, for all to see

    In that very fire I do burn but namelessly

    बच निकलते हैं अगर आतिश-ए-सय्याल से हम

    शोला-ए-आरिज़-ए-गुलफ़ाम से जल जाते हैं

    If from the hunter's fire I manage to escape

    I perish in the fire that's in the flower's cape

    ख़ुद-नुमाई तो नहीं शेवा-ए-अरबाब-ए-वफ़ा

    जिन को जलना हो वो आराम से जल जाते हैं

    exhibition's not the norm for those that faithful be

    those who wish to perish then do so quietly

    रब्त-ए-बाहम पे हमें क्या कहेंगे दुश्मन

    आश्ना जब तिरे पैग़ाम से जल जाते हैं

    at our mutual fondness why will enemies not fret

    when even friends, at your messages, are all het

    जब भी आता है मिरा नाम तिरे नाम के साथ

    जाने क्यूँ लोग मिरे नाम से जल जाते हैं

    whenever my name happens to be linked to thee

    I wonder why these people burn with jealousy

    वीडियो
    This video is playing from YouTube

    Videos
    This video is playing from YouTube

    ज़ाहिदा परवीन

    ज़ाहिदा परवीन

    नसीम बेगम

    नसीम बेगम

    RECITATIONS

    नोमान शौक़

    नोमान शौक़

    नोमान शौक़

    गर्मी-ए-हसरत-ए-नाकाम से जल जाते हैं नोमान शौक़

    Additional information available

    Click on the INTERESTING button to view additional information associated with this sher.

    OKAY

    About this sher

    Lorem ipsum dolor sit amet, consectetur adipiscing elit. Morbi volutpat porttitor tortor, varius dignissim.

    Close

    rare Unpublished content

    This ghazal contains ashaar not published in the public domain. These are marked by a red line on the left.

    OKAY

    Added to your favorites

    Removed from your favorites