पटना के शायर और अदीब

कुल: 200

लोकप्रिय अफ़साना निगारों में शामिल, अपनी कहानी ‘परिंदे पकड़नेवाली गाड़ी’ के लिए मशहूर।

बोलिए