देवबंद के शायर और अदीब

कुल: 4

विद्वान, स्वतंत्रता सेनानी और वक्ता, अपनी शायरी में सूफीवाद और मस्तानगी के लिए मशहूर

प्रमुख गद्यकार, व्यंग्यकार और शायर

बोलिए