noImage

अब्दुल ग़फ़ूर नस्साख़

1833 - 1889 | पश्चिम बंगाल, भारत

क्लासिकी शैली और पैटर्न के प्रतिष्ठित शायर,अपनी किताब "सुख़न-ए-शोरा" के लिए मशहूर

क्लासिकी शैली और पैटर्न के प्रतिष्ठित शायर,अपनी किताब "सुख़न-ए-शोरा" के लिए मशहूर

अब्दुल ग़फ़ूर नस्साख़ के ऑडियो

ग़ज़ल

ज़ाहिरन मौत है क़ज़ा है इश्क़

नोमान शौक़

नक़्श-ए-दिल है सितम जुदाई का

नोमान शौक़

पीरी में शौक़ हौसला-फ़रसा नहीं रहा

नोमान शौक़

Recitation

aah ko chahiye ek umr asar hote tak SHAMSUR RAHMAN FARUQI