noImage

जमील नक़वी

1912 - 1999 | कराची, पाकिस्तान

शेर 1

टिमटिमाते रहें बुझती हुई यादों के चराग़

दिल की वीरानी पे गर आप को इसरार हो

  • शेयर कीजिए
 

पुस्तकें 4

Armughan-e-Jameel

 

1984

Intikhab-e-Asghar

Halat Aur Kalam Par Tanqeed

1954

Rudad-e-Lahu Rang

 

1983

Tanqeed-o-Tafheem

 

1984

 

"कराची" के और शायर

  • नुज़हत अब्बासी नुज़हत अब्बासी
  • सबीला इनाम सिद्दीक़ी सबीला इनाम सिद्दीक़ी
  • इसहाक़ अतहर सिद्दीक़ी इसहाक़ अतहर सिद्दीक़ी
  • इंजिला हमेश इंजिला हमेश
  • रज़िया सुबहान रज़िया सुबहान
  • मक़बूल नक़्श मक़बूल नक़्श
  • हसनैन जाफ़री हसनैन जाफ़री
  • अतहर ज़ियाई अतहर ज़ियाई
  • हफ़ीज़ फ़ातिमा बरेलवी हफ़ीज़ फ़ातिमा बरेलवी
  • इरम लखनवी इरम लखनवी