Kafeel Aazar Amrohvi's Photo'

कफ़ील आज़र अमरोहवी

1940 | मुंबई, भारत

फ़िल्म गीतकार, अपनी नज़्म 'बात निकलेगी तो फिर दूर तलक जाएगी' के लिए प्रसिद्ध, जिसे जगजीत सिंह ने आवाज़ दी थी।

फ़िल्म गीतकार, अपनी नज़्म 'बात निकलेगी तो फिर दूर तलक जाएगी' के लिए प्रसिद्ध, जिसे जगजीत सिंह ने आवाज़ दी थी।

ग़ज़ल 16

शेर 21

एक इक बात में सच्चाई है उस की लेकिन

अपने वादों से मुकर जाने को जी चाहता है

कमरे में फैलता रहा सिगरेट का धुआँ

मैं बंद खिड़कियों की तरफ़ देखता रहा

उस की आँखों में उतर जाने को जी चाहता है

शाम होती है तो घर जाने को जी चाहता है

कब आओगे ये घर ने मुझ से चलते वक़्त पूछा था

यही आवाज़ अब तक गूँजती है मेरे कानों में

बात निकलेगी तो फिर दूर तलक जाएगी

लोग बे-वज्ह उदासी का सबब पूछेंगे

  • शेयर कीजिए

पुस्तकें 1

Dhoop Ka Dareecha

 

1993

 

वीडियो 3

This video is playing from YouTube

वीडियो का सेक्शन
अन्य वीडियो
अंदेशा

बात निकलेगी तो फिर दूर तलक जाएगी आबिद अली बेग

अंदेशा

बात निकलेगी तो फिर दूर तलक जाएगी कफ़ील आज़र अमरोहवी

अंदेशा

बात निकलेगी तो फिर दूर तलक जाएगी जगजीत सिंह

अंदेशा

बात निकलेगी तो फिर दूर तलक जाएगी जगजीत सिंह

संबंधित शायर

  • साग़र आज़मी साग़र आज़मी समकालीन
  • सुदर्शन फ़ाकिर सुदर्शन फ़ाकिर समकालीन

"मुंबई" के और शायर

  • शकील बदायुनी शकील बदायुनी
  • निदा फ़ाज़ली निदा फ़ाज़ली
  • अख़्तरुल ईमान अख़्तरुल ईमान
  • साहिर लुधियानवी साहिर लुधियानवी
  • जावेद अख़्तर जावेद अख़्तर
  • मजरूह सुल्तानपुरी मजरूह सुल्तानपुरी
  • जाँ निसार अख़्तर जाँ निसार अख़्तर
  • क़ैसर-उल जाफ़री क़ैसर-उल जाफ़री
  • गुलज़ार गुलज़ार
  • ज़ाकिर ख़ान ज़ाकिर ज़ाकिर ख़ान ज़ाकिर