Khwaja Razi Haidar's Photo'

ख़्वाज़ा रज़ी हैदर

1946 | कराची, पाकिस्तान

समकालीन पाकिस्तानी शायर

समकालीन पाकिस्तानी शायर

This video is playing from YouTube

वीडियो का सेक्शन
शायर अपना कलाम पढ़ते हुए
चराग़-ए-बज़्म तिरी मंसबी है कितनी देर

ख़्वाज़ा रज़ी हैदर

वक़्त अजीब आ गया मंसब-ओ-जाह के लिए

ख़्वाज़ा रज़ी हैदर

सर-निगूँ दिल की तरह दस्त-ए-दुआ हो भी चुके

ख़्वाज़ा रज़ी हैदर

शायर अपना कलाम पढ़ते हुए

  • चराग़-ए-बज़्म तिरी मंसबी है कितनी देर

    चराग़-ए-बज़्म तिरी मंसबी है कितनी देर ख़्वाज़ा रज़ी हैदर

  • वक़्त अजीब आ गया मंसब-ओ-जाह के लिए

    वक़्त अजीब आ गया मंसब-ओ-जाह के लिए ख़्वाज़ा रज़ी हैदर

  • सर-निगूँ दिल की तरह दस्त-ए-दुआ हो भी चुके

    सर-निगूँ दिल की तरह दस्त-ए-दुआ हो भी चुके ख़्वाज़ा रज़ी हैदर