Priyamvada Singh's Photo'

प्रियंवदा सिंह

1991 | बीकानेर, भारत

ग़ज़ल 15

शेर 17

कीजे इज़हार-ए-मोहब्बत चाहे जो अंजाम हो

ज़िंदगी में ज़िंदगी जैसा कोई तो काम हो

  • शेयर कीजिए

फ़िक्र तेरी ठीक पर मेरी अना का भी तो सोच

दूर से बस देख ले ज़ख़्मों को मेरे छू नहीं

  • शेयर कीजिए

ख़ुद-कुशी इक आख़िरी कोशिश है ज़िंदा रहने की

ख़ुद-कुशी करने को इक परवाह भी तो चाहिए

  • शेयर कीजिए

तुझ को पा कर भी तुझे पाने की ख़्वाहिश है अभी

मेरे दरिया तू अलग तेरी रवानी है अलग

  • शेयर कीजिए

वो ख़फ़ा हैं जाने किस किस बात पर

हम ने की है जो ख़ता कुछ और है

  • शेयर कीजिए

संबंधित ब्लॉग

 

"बीकानेर" के और शायर

  • मंजु कछावा अना मंजु कछावा अना