noImage

सनम प्रतापगढ़ी

शेर 2

ख़ुद ही परवाने जल गए वर्ना

शम्अ जलती है रौशनी के लिए

the moths got burned in their own plight

the flame just burns to shed some light

  • शेयर कीजिए

हो सके तो जवाब दे देना

ये मोहब्बत का आख़िरी ख़त है

  • शेयर कीजिए