Taj Bhopali's Photo'

ताज भोपाली

1926 - 1978 | भोपाल, भारत

ताज भोपाली के शेर

तुम्हें कुछ भी नहीं मालूम लोगो

फ़रिश्तों की तरह मा'सूम लोगो

वज़्न हर चीज़ की तौक़ीर बढ़ा देता है

ज़िंदगी बोझ सही फिर भी उठाए रखिए