Tajvar Najibabadi's Photo'

ताजवर नजीबाबादी

1893 - 1951 | लाहौर, पाकिस्तान

ग़ज़ल 6

शेर 9

नज़र भर के जो देख सकते हैं तुझ को

मैं उन की नज़र देखना चाहता हूँ

  • शेयर कीजिए

ग़म-ए-मोहब्बत में दिल के दाग़ों से रू-कश-ए-लाला-ज़ार हूँ मैं

फ़ज़ा बहारीं है जिस के जल्वों से वो हरीफ़-ए-बहार हूँ मैं

उफ़ वो नज़र कि सब के लिए दिल-नवाज़ है

मेरी तरफ़ उठी तो तलवार हो गई

  • शेयर कीजिए

पुस्तकें 58

Haji Baba Asfahani

Part - 002

 

Madaaeh Wa Mraasi

 

 

Payam-e-Zindagi

Volume-003

 

Payam-e-Zindagi

Volume-011

 

Payam-e-Zindagi

Volume-013

 

Payam-e-Zindagi

Volume-001

 

Payam-e-Zindagi

Volume-007

 

Payam-e-Zindagi

Volume-012

 

Payam-e-Zindagi

Volume-005

 

Payam-e-Zindagi

Volume-004

 

संबंधित शायर

  • यज़दानी जालंधरी यज़दानी जालंधरी शिष्य
  • एहसान दानिश एहसान दानिश शिष्य

"लाहौर" के और शायर

  • मोहम्मद हनीफ़ रामे मोहम्मद हनीफ़ रामे
  • हाजी लक़ लक़ हाजी लक़ लक़
  • सूफ़ी तबस्सुम सूफ़ी तबस्सुम
  • हरी चंद अख़्तर हरी चंद अख़्तर
  • मोहम्मद दीन तासीर मोहम्मद दीन तासीर
  • चराग़ हसन हसरत चराग़ हसन हसरत
  • सय्यद आबिद अली आबिद सय्यद आबिद अली आबिद
  • आग़ा हश्र काश्मीरी आग़ा हश्र काश्मीरी
  • ज़हीर काश्मीरी ज़हीर काश्मीरी
  • अंजुम रूमानी अंजुम रूमानी