आपकी खोज से संबंधित

परिणाम "ummat"

नज़्म के संबंधित परिणाम "ummat"

नज़्म

हश्र की सुब्ह दरख़्शाँ हो मक़ाम-ए-महमूद

दो महीनों में मकानों से धुआँ तक न उठे
फ़िक्र-ए-उम्मत कि हर इक लम्हा लहू में करवट

आदिल मंसूरी