पुस्तकें 2

Suroor-e-Ghazal

 

2006

उर्दू लुग़त नवेसी का पस-ए-मंज़र

 

1997

 

वीडियो 23

This video is playing from YouTube

वीडियो का सेक्शन
हास्य वीडियो
Aaj ki raat

नूर जहाँ

Ae Watan Ke Sajeele Jawanon اے وطن کے سجیلے جوانوں

नूर जहाँ

aye ghizal e shab teri pyas kese bhujao me

नूर जहाँ

hai bas-ki har ek un ke ishaare mein nishan aur

नूर जहाँ

दोनों जहान तेरी मोहब्बत में हार के

नूर जहाँ

hai bas-ki har ek un ke ishaare mein nishan aur

नूर जहाँ

आँख से दूर न हो दिल से उतर जाएगा

नूर जहाँ

उन से नयन मिला के देखो

नूर जहाँ

कभी किताबों में फूल रखना कभी दरख़्तों पे नाम लिखना

नूर जहाँ

तेरे प्यार में रुस्वा हो कर जाएँ कहाँ दीवाने लोग

नूर जहाँ

दयार-ए-दिल की रात में चराग़ सा जला गया

नूर जहाँ

दिल गया तुम ने लिया हम क्या करें

नूर जहाँ

दिल धड़कने का सबब याद आया

नूर जहाँ

न जी भर के देखा न कुछ बात की

नूर जहाँ

निय्यत-ए-शौक़ भर न जाए कहीं

नूर जहाँ

पयाम आए हैं उस यार-ए-बेवफ़ा के मुझे

नूर जहाँ

मुद्दत हुई है यार को मेहमाँ किए हुए

नूर जहाँ

रक़ीब से!

आ कि वाबस्ता हैं उस हुस्न की यादें तुझ से नूर जहाँ

रात फैली है तेरे सुरमई आँचल की तरह

नूर जहाँ

सिलसिले तोड़ गया वो सभी जाते जाते

नूर जहाँ

हर क़दम पर नित-नए साँचे में ढल जाते हैं लोग

नूर जहाँ

कभी नेकी भी उस के जी में गर आ जाए है मुझ से

नूर जहाँ

तस्कीं को हम न रोएँ जो ज़ौक़-ए-नज़र मिले

नूर जहाँ

"कराची" के और कलाकार

  • ताज मुल्तानी ताज मुल्तानी