शेर

विषयानुसार हज़ारों लोकप्रिय शेर

चित्र शायरी

शायरी की सैकड़ों खूबसूरत तस्वीरें शेयर कीजिए

समस्त
क़ुर्बतें होते हुए भी फ़ासलों में क़ैद हैं-सलीम कौसर

सलीम कौसर

अजब अंदाज़ के शाम-ओ-सहर हैं-असद भोपाली

असद भोपाली

हम तो हैं परदेस में देस में निकला होगा चाँद-राही मासूम रज़ा

राही मासूम रज़ा

क़रीब भी तो नहीं हो कि आ के सो जाओ-रउफ़ रज़ा

रउफ़ रज़ा

इतने मायूस तो हालात नहीं-जाँ निसार अख़्तर

जाँ निसार अख़्तर

जब से तू ने मुझे दीवाना बना रक्खा है-हकीम नासिर

हकीम नासिर

अब तो चुप-चाप शाम आती है-मोहम्मद अल्वी

मोहम्मद अल्वी

लुत्फ़ वो इश्क़ में पाए हैं कि जी जानता है-दाग़ देहलवी

दाग़ देहलवी

ख़्वाब, उम्मीद, तमन्नाएँ, तअल्लुक़, रिश्ते-इमरान-उल-हक़ चौहान

इमरान-उल-हक़ चौहान

शब-ए-फ़ुर्क़त का जागा हूँ फ़रिश्तो अब तो सोने दो-अमीर मीनाई

अमीर मीनाई

ज़िंदगी जब्र-ए-मुसलसल की तरह काटी है-साग़र सिद्दीक़ी

साग़र सिद्दीक़ी

वो जो प्यासा लगता था सैलाब-ज़दा था-आनिस मुईन

आनिस मुईन

दोस्तों से इस क़दर सदमे उठाए जान पर-हैदर अली आतिश

हैदर अली आतिश

क्या कहूँ ऊबने लगा हूँ 'जमाल'-जमाल एहसानी

जमाल एहसानी