शेर

विषयानुसार हज़ारों लोकप्रिय शेर


  • हम भी कर लें जो रौशनी घर में
    फिर अंधेरे कहाँ क़याम करें

    ख़ुमार बाराबंकवी

  • उन का ज़िक्र उन की तमन्ना उन की याद
    वक़्त कितना क़ीमती है आज कल

    शकील बदायुनी

  • इस क़दर था खटमलों का चारपाई में हुजूम
    वस्ल का दिल से मिरे अरमान रुख़्सत हो गया

    अकबर इलाहाबादी

  • मिरी ज़बान के मौसम बदलते रहते हैं
    मैं आदमी हूँ मिरा ए'तिबार मत करना

    आसिम वास्ती

  • दूसरों पर अगर तब्सिरा कीजिए
    सामने आइना रख लिया कीजिए

    ख़ुमार बाराबंकवी

  • हम शैख़ न लीडर न मुसाहिब न सहाफ़ी
    जो ख़ुद नहीं करते वो हिदायत न करेंगे

    फ़ैज़ अहमद फ़ैज़

  • वो कोई दोस्त था अच्छे दिनों का
    जो पिछली रात से याद आ रहा है

    नासिर काज़मी

  • बढ़ के तूफ़ान को आग़ोश में ले ले अपनी
    डूबने वाले तिरे हाथ से साहिल तो गया

    अब्दुल हमीद अदम

  • ये मुझे चैन क्यूँ नहीं पड़ता
    एक ही शख़्स था जहान में क्या

    जौन एलिया

  • ख़ुद आग दे के अपने नशेमन को आप ही
    बिजली से इंतिक़ाम लिया है कभी कभी

    अज्ञात

  • याद रखना ही मोहब्बत में नहीं है सब कुछ
    भूल जाना भी बड़ी बात हुआ करती है

    जमाल एहसानी

  • आसमाँ इतनी बुलंदी पे जो इतराता है
    भूल जाता है ज़मीं से ही नज़र आता है

    वसीम बरेलवी

  • तौहीद तो ये है कि ख़ुदा हश्र में कह दे
    ये बंदा ज़माने से ख़फ़ा मेरे लिए है

    मोहम्मद अली जौहर

  • कौन सी बात है जो उस में नहीं
    उस को देखे मिरी नज़र से कोई

    शहरयार

  • जब मिली आँख होश खो बैठे
    कितने हाज़िर-जवाब हैं हम लोग

    जिगर मुरादाबादी

चित्रित शायरी

शायरी की सैकड़ों खूबसूरत तस्वीरें शेयर कीजिए

सम्पूर्ण

टैग