शेर

विषयानुसार हज़ारों लोकप्रिय शेर

चित्र शायरी

शायरी की सैकड़ों खूबसूरत तस्वीरें शेयर कीजिए

समस्त
अब रात की दीवार को ढाना है ज़रूरी-शहरयार

शहरयार

आ कि तुझ बिन इस तरह ऐ दोस्त घबराता हूँ मैं-जिगर मुरादाबादी

जिगर मुरादाबादी

आशिक़ी में 'मीर' जैसे ख़्वाब मत देखा करो-अहमद फ़राज़

अहमद फ़राज़

मिलाते हो उसी को ख़ाक में जो दिल से मिलता है-दाग़ देहलवी

दाग़ देहलवी

मैं ले के दिल के रिश्ते घर से निकल चुका हूँ-जौन एलिया

जौन एलिया

वो चाँद कह के गया था कि आज निकलेगा-फ़रहत एहसास

फ़रहत एहसास

कितनी आसानी से मशहूर किया है ख़ुद को-ज़फ़र गोरखपुरी

ज़फ़र गोरखपुरी

न मैं समझा न आप आए कहीं से-अनवर देहलवी

अनवर देहलवी

हम लबों से कह न पाए उन से हाल-ए-दिल कभी-निदा फ़ाज़ली

निदा फ़ाज़ली

मैं उम्र के रस्ते में चुप-चाप बिखर जाता-अज़्म बहज़ाद

अज़्म बहज़ाद

चल चल के थक गया है कि मंज़िल नहीं कोई-शहरयार

शहरयार

पूरा दुख और आधा चाँद-परवीन शाकिर

परवीन शाकिर

बहुत दिनों में मोहब्बत को ये हुआ मा'लूम-फ़िराक़ गोरखपुरी

फ़िराक़ गोरखपुरी

ये किस अज़ाब में छोड़ा है तू ने इस दिल को-शोहरत बुख़ारी

शोहरत बुख़ारी