Iqbal Bano's Photo'

इक़बाल बानो

1940 - 2000 | लाहौर, पाकिस्तान

वीडियो 61

This video is playing from YouTube

वीडियो का सेक्शन
हास्य वीडियो

इक़बाल बानो

इक़बाल बानो

Iqbal Bano Tere Waaday ko Dagh Dehlvi

इक़बाल बानो

Ishq jab zamzama pairaa hoga

इक़बाल बानो

Kasrat-e-jalwa se chashm-e-shauq kis mushkil main hai

इक़बाल बानो

Ram Kare Kahin Naina Na Uljhein

इक़बाल बानो

Ulfat ki nai manzil ko chala

इक़बाल बानो

Ulfat Ki Nai Manzil Ko Chala

इक़बाल बानो

Wo Is Ada Se Jo Aae to kyuun bhala

इक़बाल बानो

dil-e-man musafir-e-man

मिरे दिल, मिरे मुसाफ़िर इक़बाल बानो

अपने ग़रीब दिल की बात करते हैं राएगाँ कहाँ

इक़बाल बानो

अब के हम बिछड़े तो शायद कभी ख़्वाबों में मिलें

इक़बाल बानो

अब कैसे रफ़ू पैराहन हो इस आवारा दीवाने का

इक़बाल बानो

आया न रास नाला-ए-दिल का असर मुझे

इक़बाल बानो

इब्न-ए-मरियम हुआ करे कोई

इक़बाल बानो

इश्क़ जब ज़मज़मा-पैरा होगा

इक़बाल बानो

इश्क़ मिन्नत-कश-ए-क़रार नहीं

इक़बाल बानो

कुछ ऐसे ज़ख़्म भी दर-पर्दा हम ने खाए हैं

इक़बाल बानो

कुछ तो एहसास-ए-ज़ियाँ था पहले

इक़बाल बानो

कुछ तो तन्हाई की रातों में सहारा होता

इक़बाल बानो

कब ठहरेगा दर्द ऐ दिल कब रात बसर होगी

इक़बाल बानो

क्या कहा फिर तो कहो दिल की ख़बर कुछ भी नहीं

इक़बाल बानो

ख़ामोश हो क्यूँ दाद-ए-जफ़ा क्यूँ नहीं देते

इक़बाल बानो

चलते हो तो चमन को चलिए कहते हैं कि बहाराँ है

इक़बाल बानो

तिरे ख़याल से लो दे उठी है तन्हाई

इक़बाल बानो

दुआ

आइए हाथ उठाएँ हम भी इक़बाल बानो

देखना भी तो उन्हें दूर से देखा करना

इक़बाल बानो

दाइम पड़ा हुआ तिरे दर पर नहीं हूँ मैं

इक़बाल बानो

दिया है दिल अगर उस को बशर है क्या कहिए

इक़बाल बानो

न किसी की आँख का नूर हूँ न किसी के दिल का क़रार हूँ

इक़बाल बानो

न गँवाओ नावक-ए-नीम-कश दिल-ए-रेज़ा-रेज़ा गँवा दिया

इक़बाल बानो

न हरीफ़-ए-जाँ न शरीक-ए-ग़म शब-ए-इंतिज़ार कोई तो हो

इक़बाल बानो

परेशाँ रात सारी है सितारो तुम तो सो जाओ

इक़बाल बानो

पिया बाज प्याला पिया जाए ना

इक़बाल बानो

मैं नज़र से पी रहा हूँ ये समाँ बदल न जाए

इक़बाल बानो

मैं नज़र से पी रहा हूँ ये समाँ बदल न जाए

इक़बाल बानो

मुद्दत हुई है यार को मेहमाँ किए हुए

इक़बाल बानो

मुद्दत हुई है यार को मेहमाँ किए हुए

इक़बाल बानो

मरसिए

1 इक़बाल बानो

मोहब्बत करने वाले कम न होंगे

इक़बाल बानो

मोहब्बत करने वाले कम न होंगे

इक़बाल बानो

ये मौसम-ए-गुल गरचे तरब-ख़ेज़ बहुत है

इक़बाल बानो

लाई हयात आए क़ज़ा ले चली चले

इक़बाल बानो

लाई हयात आए क़ज़ा ले चली चले

इक़बाल बानो

वासोख़्त

सच है हमीं को आप के शिकवे बजा न थे इक़बाल बानो

वो इस अदा से जो आए तो क्यूँ भला न लगे

इक़बाल बानो

वो जो हम में तुम में क़रार था तुम्हें याद हो कि न याद हो

इक़बाल बानो

वो हर मक़ाम से पहले वो हर मक़ाम के बाद

इक़बाल बानो

शाम-ए-फ़िराक़ अब न पूछ आई और आ के टल गई

इक़बाल बानो

सब पेच-ओ-ताब-ए-शौक़ के तूफ़ान थम गए

इक़बाल बानो

सभी कुछ है तेरा दिया हुआ सभी राहतें सभी कुल्फ़तें

इक़बाल बानो

है जुस्तुजू कि ख़ूब से है ख़ूब-तर कहाँ

इक़बाल बानो

हम अश्क-ए-ग़म हैं अगर थम रहे रहे न रहे

इक़बाल बानो

हम बाग़-ए-तमन्ना में दिन अपने गुज़ार आए

इक़बाल बानो

हर चीज़ है महव-ए-ख़ुद-नुमाई

इक़बाल बानो

जिसे इश्क़ का तीर कारी लगे

इक़बाल बानो

तस्कीं को हम न रोएँ जो ज़ौक़-ए-नज़र मिले

इक़बाल बानो

दाइम पड़ा हुआ तिरे दर पर नहीं हूँ मैं

इक़बाल बानो

ये न थी हमारी क़िस्मत कि विसाल-ए-यार होता

इक़बाल बानो

Khabarm raseed imshab

इक़बाल बानो

नहीं निगाह में मंज़िल तो जुस्तुजू ही सही

इक़बाल बानो

"लाहौर" के और कलाकार

  • ग़ुलाम अली ग़ुलाम अली