masnavi-e-humdam akhirat

हातिम अली मेहर

मत्बा इस्ना अशरी, दिल्ली
| अन्य

लेखक: परिचय

हातिम अली मेहर

हातिम अली मेहर

मेह्र, मिर्ज़ा हातिम अली बेग

(1815-1879)

अलीगढ़ (उ॰प्र॰) के थे। मिर्ज़ापुर में मुन्सिफ़ के पद पर रहे। हाईकोर्ट में वकालत भी करते थे। कुछ दिन आगरा में आनरेरी मजिस्ट्रेट रहने का भी मौक़ा मिला। 1857 की जंग के दौरान अंग्रेज़ों को पनाह देने के इनाम में जागीर मिली। मिर्ज़ा ग़ालिब से गहरे संबंध थे। मेह्र के नाम उनके कई ख़त मौजूद हैं।

.....और पढ़िए

लेखक की अन्य पुस्तकें

पूरा देखिए

लोकप्रिय और ट्रेंडिंग

पूरा देखिए

पुस्तकों की तलाश निम्नलिखित के अनुसार

पुस्तकें विषयानुसार

शायरी की पुस्तकें

पत्रिकाएँ

पुस्तक सूची

लेखकों की सूची

विश्वविद्यालय उर्दू पाठ्यक्रम