ग़ज़लें

1882 -1926

प्रमुख पूर्वाधुनिक शायर/रामायण पर अपनी नज़्म के लिए विख्यात/मशहूर शेर ‘जि़ंदगी क्या है अनासिर में ज़हूर-ए-तरतीब......’ के रचयिता

1923 -1995

पारंपरिक ढंग के शायर, मुशायरों में लोकप्रिय रहे

प्रसिद्ध आधुनिक शायरों में शामिल

1878/79 -1941

क़ौमी, सामाजिक और देश की आज़ादी की भावना से समर्पित नज़्मों के लिए प्रसिद्धके. लम्बे अरसे तक उर्दू-फ़ारसी के उस्ताद रहे

1946

नज़्म के जाने माने शायर

1934 -2019

शायर, गीतकार और रेडियो ब्रोडकास्टर. पंजाबी और उर्दू में शायरी की और कई लोकप्रिय गीत लिखे जिन्हें जगजीत सिंह, आशा भोंसले और कई महत्वपूर्ण गायकों ने आवाज़ दी

रूमानी रंग की नज़्मों और ग़ज़लों के लिए मशहूर, अख़्तर शिरानी से प्रभावित रहे

1904 -1955

शायर एवं पत्रकार, हास्य लेखों के लिए लोकप्रिय