noImage

आसी झांसवी

शेर 1

उस का पता किसी से पूछो बढ़े चलो

फ़ित्ना किसी गली में तो होगा उठा हुआ