Abdur Rahim Nashtar's Photo'

अब्दुर्रहीम नश्तर

औरंगाबाद, भारत

शायर और गद्यकार, अपनी किताब ‘कोकन में उर्दू तालीम’ के लिए भी जाने जाते हैं

शायर और गद्यकार, अपनी किताब ‘कोकन में उर्दू तालीम’ के लिए भी जाने जाते हैं

ग़ज़ल 12

शेर 10

अपनी ही ज़ात के सहरा में सुलगते हुए लोग

अपनी परछाईं से टकराए हय्यूलों से मिले

उस ने चलते चलते लफ़्ज़ों का ज़हराब

मेरे जज़्बों की प्याली में डाल दिया

फटे पुराने बदन से किसे ख़रीद सकूँ

सजे हैं काँच के पैकर बड़ी दुकानों में

ई-पुस्तक 6

Bhopal Ek Khwab

 

1977

Eraaf

 

1972

Kokan Mein Urdu Taleem

 

1996

Kokan Mein Urdu Taleem

Part-002

2000

Noor-e-Nazad

 

1980

Sham-e-Giran

 

1978

 

"औरंगाबाद" के और शायर

  • साबिर साबिर
  • क़मर इक़बाल क़मर इक़बाल
  • फ़ारूक़ शमीम फ़ारूक़ शमीम
  • बशर नवाज़ बशर नवाज़
  • मिद्हत-उल-अख़्तर मिद्हत-उल-अख़्तर
  • अहसन यूसुफ़ ज़ई अहसन यूसुफ़ ज़ई
  • सिकंदर अली वज्द सिकंदर अली वज्द
  • क़ाज़ी सलीम क़ाज़ी सलीम
  • इश्क़ औरंगाबादी इश्क़ औरंगाबादी
  • शाह हुसैन नहरी शाह हुसैन नहरी

Added to your favorites

Removed from your favorites