Ameer Imam's Photo'

अमीर इमाम

1984 | संभल, भारत

भारतीय ग़ज़ल की नई नस्ल की एक रौशन आवाज़।

भारतीय ग़ज़ल की नई नस्ल की एक रौशन आवाज़।

मूल नाम : अमीर इमाम

जन्म : 30 Jun 1984 | संभल, भारत

Relatives : कैफ़ी संभली (पिता)

धूप में कौन किसे याद किया करता है

पर तिरे शहर में बरसात तो होती होगी

 ‘सुब्ह-बख़ैर ज़िन्दगी’ अमीर इमाम की शाइ’री का देवनागरी लिपि में दूसरा संग्रह है। इससे पहले उनका पहला संग्रह उर्दू और देवनागरी लिपियों में ‘नक़्श-ए-पा हवाओं के’ के नाम से 2013 में प्रकाशित हुआ था, जिस पर साहित्य अकादमी का युवा साहित्य पुरुस्कार भी मिला था। उनका जन्म यूपी के शह‍्‍र संभल में 1984 में हुआ। इस वक़्त वो संभल के एक कॉलेज में अध्यापन-कार्य कर रहे हैं।