noImage

बुध सिंह कलंदर

शेर 1

थमते थमते थमेंगे आँसू

रोना है कुछ हँसी नहीं है

  • शेयर कीजिए