Ghazanfar's Photo'

ग़ज़नफ़र

1953 | दिल्ली, भारत

शायर, आलोचक और कथा लेखक, संवेदनशील सामाजिक विषयों पर उपन्यास और कहानी लेखन के लिए मशहूर।

शायर, आलोचक और कथा लेखक, संवेदनशील सामाजिक विषयों पर उपन्यास और कहानी लेखन के लिए मशहूर।

This video is playing from YouTube

वीडियो का सेक्शन
शायर अपना कलाम पढ़ते हुए

ग़ज़नफ़र

कभी तो मूँद लें आँखे कभी नज़र खोलें

ग़ज़नफ़र

नए आदमी का कंफ़ेशन

कभी ये भी ख़्वाहिश परेशान करती है मुझ को ग़ज़नफ़र

महा-भारत

बिन-लादेन ग़ज़नफ़र

ये तमन्ना नहीं कि मर जाएँ

ग़ज़नफ़र

यक़ीन जानिए इस में कोई करामत है

ग़ज़नफ़र

सामान-ए-ऐश सारा हमें यूँ तू दे गया

ग़ज़नफ़र

हिजरत

वो आग़ोश जिस में पले ग़ज़नफ़र

शायर अपना कलाम पढ़ते हुए

  • ग़ज़नफ़र

  • कभी तो मूँद लें आँखे कभी नज़र खोलें

    कभी तो मूँद लें आँखे कभी नज़र खोलें ग़ज़नफ़र

  • नए आदमी का कंफ़ेशन

    नए आदमी का कंफ़ेशन ग़ज़नफ़र

  • महा-भारत

    महा-भारत ग़ज़नफ़र

  • ये तमन्ना नहीं कि मर जाएँ

    ये तमन्ना नहीं कि मर जाएँ ग़ज़नफ़र

  • यक़ीन जानिए इस में कोई करामत है

    यक़ीन जानिए इस में कोई करामत है ग़ज़नफ़र

  • सामान-ए-ऐश सारा हमें यूँ तू दे गया

    सामान-ए-ऐश सारा हमें यूँ तू दे गया ग़ज़नफ़र

  • हिजरत

    हिजरत ग़ज़नफ़र