Gyan Chand Jain's Photo'

उपमहाद्वीप के प्रसिद्ध और प्रतिष्ठित भाषाविद् और आलोचक

उपमहाद्वीप के प्रसिद्ध और प्रतिष्ठित भाषाविद् और आलोचक

ग़ज़ल 5

 

शेर 2

धरती और अम्बर पर दोनों क्या रानाई बाँट रहे थे

फूल खिला था तन्हा तन्हा चाँद उगा था तन्हा तन्हा

फ़िक्र की दुनिया में कोलम्बस बना फिरता हूँ मैं

इल्म की पहनाई का कितना बड़ा फ़ैज़ान है

  • शेयर कीजिए
 

पुस्तकें 33

Aam Lisaniyat

 

1985

अदबी असनाफ़

 

1989

Ek Bhasha : Do Likhawat, Do Adab

 

2005

Ghalib Shanas Malik Raam

 

2002

Ghalib Shanas Malik Ram

 

1996

Haqaiq

 

1978

Ibtadai Kalam-e-Iqbal

Ba Tarteeb-e-Mah-o-Sal

1988

Kachche Bol

 

1991

Khoj

 

1990

Lisani Mutale

 

1979

"कैलिफोर्निया" के और शायर

  • रेहाना क़मर रेहाना क़मर
  • ताशी ज़हीर ताशी ज़हीर