noImage

इफ़्तिख़ार साग़र

शेर 1

उस ने हमारे ज़ख़्म का कुछ यूँ किया इलाज

मरहम भी गर लगाया तो काँटों की नोक से

  • शेयर कीजिए
 

चित्र शायरी 1

उस ने हमारे ज़ख़्म का कुछ यूँ किया इलाज मरहम भी गर लगाया तो काँटों की नोक से