Malika Naseem's Photo'

मलिका नसीम

1954

ग़ज़ल

अगर चाहूँ झटक कर तोड़ दूँ ज़ंजीर-ए-तन्हाई

अज़रा नक़वी

सुलगती शाम की दहलीज़ पर जलता दिया रखना

अज़रा नक़वी

हवा के दोश पे किस के पयाम आते हैं

अज़रा नक़वी

Recitation

aah ko chahiye ek umr asar hote tak SHAMSUR RAHMAN FARUQI