noImage

मोहसिन ख़ान मोहसिन

सनम तू वो कनहय्या है बलाएँ लूँ अगर

बाँसुली की तरह नालाँ हों सरापा उँगलियाँ

Added to your favorites

Removed from your favorites