Talib Husain Talib's Photo'

तालिब हुसैन तालिब

1980 | पाकिस्तान

ग़ज़ल 5

 

शेर 6

देख कर तुम को हैरती हूँ मैं

किस क़दर हुस्न है ज़माने में

मैं चाँद भेज रहा हूँ कि तुम को देख आए

तुम्हारे शहर में अब शाम हो गई होगी

आज फिर चाँद देर से निकला

तुम ने फिर देर कर दी आने में

ई-पुस्तक 1