Vilas Pandit Musafir's Photo'

विलास पंडित मुसाफ़िर

मेहनत कर के हम तो आख़िर भूके भी सो जाएँगे

या मौला तू बरकत रखना बच्चों की गुड़-धानी में

रोज़ ही पीना रोज़ पिलाना रोज़ ग़मों से टकराना

इक दिन मय को भूल के आओ गंगा-जल की बात करें

लेने वाले तो सभी कुछ ले गए

आप भी एहसान थोड़ा कीजिए

इक समुंदर के हवाले सारे ख़त करता रहा

वो हमारे साथ अपने ग़म ग़लत करता रहा