प्रगतिशील

हिन्दुस्तान के इन तरक़्क़ी-पसंद नौजवानों को बीमार कहा जाता है। वो बीमार हैं, इस में कोई शक नहीं, पर ये बीमारी वो इशक़ है जो उनको अपने वतन के ज़र्रे ज़र्रे से है।

सआदत हसन मंटो