शिक्षण

अच्छे उस्ताद के अंदर एक बच्चा बैठा होता है जो हाथ उठा-उठा कर और सर हिला-हिला कर बताता जाता कि बात समझ में आई कि नहीं।

मुश्ताक़ अहमद यूसुफ़ी

संबंधित विषय