जवानी

दाग़ तो दो ही चीज़ों पर सजता है, दिल और जवानी।

मुश्ताक़ अहमद यूसुफ़ी

अगर इन्सान का हाफ़्ज़ा ख़राब हो तो वो ज़ियादा देर तक जवान रह सकता है।

भारत चंद खन्ना

संबंधित विषय