Ajmal Ajmali's Photo'

अजमल अजमली

1932 - 1993 | इलाहाबाद, भारत

प्रसिद्ध शायर, अनुवादक और लेखक

प्रसिद्ध शायर, अनुवादक और लेखक

ग़ज़ल 11

शेर 7

माँ ने लिखा है ख़त में जहाँ जाओ ख़ुश रहो

मुझ को भले याद करो घर भूलना

जब भी मिलता हूँ वही चेहरा लिए

बद-दुआ देता है आईना मुझे

  • शेयर कीजिए

कितनी तवील क्यूँ हो बातिल की ज़िंदगी

हर रात का है सुब्ह मुक़द्दर भूलना

पुस्तकें 7

डॉ॰ अजमल अजमली

हयात और अदबी ख़िदमात

1992

Mera Dagestan

 

1978

Nuqoosh-e-Lenin

 

1980

Safar-e-Zaad

 

1990

सफ़रज़ाद

 

1990

Shair-e-Atish Nawa Nazrul Islam

 

1960

शेरिय्यात से सियासियात तक

 

1994

Urdu Se Hinduon Ka Taalluq

 

1959