Majnoon Gorakhpuri's Photo'

मजनूँ गोरखपुरी

1904 - 1988 | अलीगढ़, भारत

प्रसिद्ध प्रगतिशील आलोचक, रुमानवी शैली के कहानीकारों में शामिल

प्रसिद्ध प्रगतिशील आलोचक, रुमानवी शैली के कहानीकारों में शामिल

मजनूँ गोरखपुरी

कहानी 7

लेख 16

अशआर 3

जब से आया है वो मुखड़ा नज़र आईने को

तब से अपनी भी नहीं है ख़बर आईने को

  • शेयर कीजिए

हिनाई हाथ से आँचल सँभाले

ये शरमाता हुआ कौन रहा है

  • शेयर कीजिए

आज़ादी की धूमें हैं शोहरे हैं तरक़्क़ी के

हर गाम है पस्पाई हर वज़्अ ग़ुलामाना

  • शेयर कीजिए
 

पुस्तकें 66

"अलीगढ़" के और लेखक

Recitation

aah ko chahiye ek umr asar hote tak SHAMSUR RAHMAN FARUQI

बोलिए