लेखकों की सूची

सैंकड़ों शायरों का चुनिंदा कलाम

लोकप्रिय कथाकार और नाटककार, रुमानी शैली के लेखन के लिए प्रसिद्ध.

1928 -2011 लाहौर

प्रसिद्ध समकालीन शायर, साहित्यिक पत्रिका ‘इस्तिफ्सार’ के सम्पादक

पाकिस्तानी शायर, पत्रकार और अनुवादक. आधुनिक सिन्धी साहित्य के अनुवादों पर आधारित अपनी पुस्तकों के लिए प्रसिद्ध

देशप्रेम,महत्वपूर्ण व्यक्तियों, घटनाओं और त्योहारों पर लिखी गई अपनी नज़्मों के लिए प्रसिद्ध. ‘हिन्दुस्तानी सूरमा’ के नाम से एक ड्रामा भी लिखा

पाकिस्तान के प्रसिद्ध कथाकार और नाटककार।

आधुनिक उर्दू आलोचना के संस्थापकों में शामिल हैं।

1911 -2002 अलीगढ़

प्रख्यात शायर जिन्हें लखनवी शायरी के शायरना महावरों पर दक्षता थी

1896 -1978 कराची

पाकिस्तान के अहम शायरों में शामिल, आधुनिक सामाजिक समस्याओं को अपनी नज़्मों और ग़ज़लों का विषय बनाने के लिए जाने जाते हैं

कश्मीर प्रान्त के शायरों में महत्वपूर्ण. ‘रास्ते मंज़िलें’ और ‘पत्ता पत्ता’ नाम से काव्य संग्रह प्रकाशित हुए

प्रख्यात उत्तर-आधुनिक शायर, 1996 में अचानक लापता हो गए।

रिवायती रंग की शायरी करने वाले शायर, कई काव्य संग्रह प्रकाशित हुए

लखनऊ के लोकप्रिय शायर और विद्वान, दाग़ और नातिक़ गुलावठी के शागिर्द. ग़ालिब और हाफ़िज़ के कलम की व्याख्यान की और अनुवाद किया. इसके अलावा उर्दू की क़दीम शायरात (प्राचीन कवयित्रियों) का तज़्किरा भी सम्पादित किया

1893 -1946 लखनऊ

मज़ाहिया शायरों में शामिल, ‘अन्दाज़-ए-बयां’ नाम से काव्य संग्रह प्रकाशित

शायर और लेखक, बच्चों के साहित्य पर अपने आलोचनात्मक और शोधपूर्ण कार्य के लिए प्रसिद्ध

हरियाणा से सम्बन्ध रखने वाले शायर और पत्रकार. साप्ताहिक ‘पैग़ाम’ के सम्पादक

प्रख्यात पाकिस्तानी शायर जो मुशायरों में भी लोकप्रिय हैं।

मुम्बई के प्रख्यात आधुनिक शायर, संजीदा शायरी पसंद करने वालों में लोकप्रिय।

अहम पाकिस्तानी शायर और अनुवादक जिन्होंने विश्वसाहित्य के अनुवाद के साथ ‘गीतांजली’ का उर्दू अनुवाद भी किया

क्लासिकी शैली और पैटर्न के प्रतिष्ठित शायर,अपनी किताब "सुख़न-ए-शोरा" के लिए मशहूर

अपने नातिया और हम्दिया कलाम के लिए मशहूर

जिगर मुरादाबदी के शागिर्द, क्लासिकी रंग की शायरी के लिए जाने जाते हैं

सुधारवादी और मज़हबी रंग की शायरी के लिए मशहूर, मौलाना अशरफ़ अली थानवी के मुरीद

बीसवीं सदी के महत्वपूर्ण विद्वान,लेखक, अनुवादक,उपन्यासकार, नाटककार. लखनऊ की सामाजिक व सांस्कृतिक जीवन के मर्मज्ञ.

1860 -1926 लखनऊ

लोकप्रिय शायर, ज़िंदगी और मोहब्बत से संबंधित रुमानी शायरी के लिए विख्यात।

अपने गीतों और सामाजिक चेतना जागृत करने वाली नज़्मों के लिए प्रसिद्ध, पंजाबी शायरी के अनुवाद भी किये

अस्सी के दशक में उभरने वाले बिहार के शायरों में शामिल

1949

मशहूर शायर और पत्रकार, अपने समय के लोकप्रिय समाचारपत्र ‘ज़मींदार’ के सम्पादक रहे. ‘ज़िक्र-ए-इक़बाल’ और ‘मुस्लिम सहाफ़त हिंदुस्तान में’ जैसी किताबें यादगार छोड़ीं

1894 -1959 लाहौर

बिहार की मशहूर साहित्यिक प्रतिभा, शायरी के साथ विभिन्न साहित्यिक विषयों पर अपनी पद्यात्मक रचनाओं के लिए जाने जाते हैं

60 के दशक में उभरने वाले अहम शायरों में शामिल, गहरी समझ और घोर भावनात्मक रवय्ये की शायरी करने के लिए प्रसिद्ध

कनाडावासी उर्दू शायरों में शामिल

Added to your favorites

Removed from your favorites