Wazir Agha's Photo'

पाकिस्तान के प्रमुखतम आलोचकों में विख्यात

पाकिस्तान के प्रमुखतम आलोचकों में विख्यात

वज़ीर आग़ा

लेख 23

अशआर 33

वो ख़ुश-कलाम है ऐसा कि उस के पास हमें

तवील रहना भी लगता है मुख़्तसर रहना

खुली किताब थी फूलों-भरी ज़मीं मेरी

किताब मेरी थी रंग-ए-किताब उस का था

अजब तरह से गुज़ारी है ज़िंदगी हम ने

जहाँ में रह के कार-ए-जहाँ को पहचाना

सफ़र तवील सही हासिल-ए-सफ़र ये है

वहाँ को भूल गए और यहाँ को पहचाना

उस की आवाज़ में थे सारे ख़द-ओ-ख़ाल उस के

वो चहकता था तो हँसते थे पर-ओ-बाल उस के

ग़ज़ल 33

नज़्म 62

पुस्तकें 120

"सरगोधा" के और लेखक

 

Recitation

aah ko chahiye ek umr asar hote tak SHAMSUR RAHMAN FARUQI

Jashn-e-Rekhta | 2-3-4 December 2022 - Major Dhyan Chand National Stadium, Near India Gate, New Delhi

GET YOUR FREE PASS
बोलिए