Ahmad Mahfuz's Photo'

अहमद महफ़ूज़

1966 | दिल्ली, भारत

प्रसिद्ध आलोचक और शायर, मीर तक़ी मीर पर आलोचनात्मक लेखन के लिए मशहूर. जामिया मिलिया इस्लामिया के उर्दू विभाग से सम्बद्ध

प्रसिद्ध आलोचक और शायर, मीर तक़ी मीर पर आलोचनात्मक लेखन के लिए मशहूर. जामिया मिलिया इस्लामिया के उर्दू विभाग से सम्बद्ध

अहमद महफ़ूज़

ग़ज़ल 24

शेर 23

सुना है शहर का नक़्शा बदल गया 'महफ़ूज़'

तो चल के हम भी ज़रा अपने घर को देखते हैं

कहाँ किसी को थी फ़ुर्सत फ़ुज़ूल बातों की

तमाम रात वहाँ ज़िक्र बस तुम्हारा था

नहीं आसमाँ तिरी चाल में नहीं आऊँगा

मैं पलट के अब किसी हाल में नहीं आऊँगा

यूँ तो बहुत है मुश्किल बंद-ए-क़बा का खुलना

जो खुल गया तो फिर ये उक़्दा खुला रहेगा

उस से मिलना और बिछड़ना देर तक फिर सोचना

कितनी दुश्वारी के साथ आए थे आसानी में हम

लेख 1

 

पुस्तकें 5

Bayan-e-Meer

 

2013

Kulliyat-e-Akbar Allahabdi

Volume-001

2002

Shamsur Rahman Farooqi

Shakhsiyat Aur Adabi Khidmat

1994

 
  • शहपर रसूल शहपर रसूल समकालीन
  • शारिक़ कैफ़ी शारिक़ कैफ़ी समकालीन
  • आलम ख़ुर्शीद आलम ख़ुर्शीद समकालीन
  • शकील आज़मी शकील आज़मी समकालीन
  • नोमान शौक़ नोमान शौक़ समकालीन
  • जमाल प्रिंटिन्ग प्रेस, दिल्ली जमाल प्रिंटिन्ग प्रेस, दिल्ली