jawahar se lal tak

नज़ीर बनारसी

1967 | अन्य

लेखक: परिचय

नज़ीर बनारसी

नज़ीर बनारसी

नज़ीर बनारसी की गिनती न ज़्म और ग़ज़ल के प्रसिद्ध शायरों में होती है. वह 25 नवंबर 1909 को बनारस में पैदा हुए. उनके पिता बनारस के मशहूर हकीम थे. नज़ीर भी हकीमी के इस पैतृक पेशे से सम्बद्ध हो गये.
शायरी में नज़ीर का कमाल यह है कि उन्होंने अपनी नज़्मों के विषय अपने आस-पास बिखरी हुई ज़िन्दगी के वास्तविक रंगों से चुने. उन्होंने अपने वक़्त के महत्वपूर्ण राजनैतिक, सामाजिक, शैक्षिक और अदबी शख्सियात पर लम्बी नज़्में भी लिखीं. नज़ीर के काव्य संग्रह ‘गंग व जमन’ ‘राष्ट्र की अमानत राष्ट्र के हवाले’ ‘जवाहर से लाल तक’ ‘ग़ुलामी से आज़ादी तक’ और ‘किताबे ग़ज़ल’ के नाम से प्रकाशित हुए.
 नज़ीर की शायरी एक तरह से उनके युग की राजनैतिक, सामाजिक और सांस्कृतिक उथल-पुथल का स्रजनात्मक दस्तावेज़ है. 23 मार्च 1996 को बनारस में देहांत हुआ.

.....और पढ़िए

लेखक की अन्य पुस्तकें

पूरा देखिए

लोकप्रिय और ट्रेंडिंग

पूरा देखिए

पुस्तकों की तलाश निम्नलिखित के अनुसार

पुस्तकें विषयानुसार

शायरी की पुस्तकें

पत्रिकाएँ

पुस्तक सूची

लेखकों की सूची

विश्वविद्यालय उर्दू पाठ्यक्रम