गीत

1926 -2020

लोकप्रिय शायर, गंगा-जमुनी तहज़ीब के गीतकार

1919 -2001

सबसे लोकप्रिय शायरों में शामिल/प्रमुख फि़ल्म गीतकार/अपनी गज़ल ‘गर्मी-ए-हसरत-ए-नाकाम से जल जाते है’ के लिए प्रसिद्ध

1935 -2016

प्रमुखतम आधुनिक शायरों में विख्यात/अपनी साहित्यिक पत्रिका ‘ज़ह्न-ए-जदीद’ के लिए प्रसिद्ध

1919 -2000

भारत के सबसे प्रमुख प्रगतिशील गजल-शायर/प्रमुख फि़ल्म गीतकार/दादा साहब फाल्के पुरस्कार से सम्मानित

1934 -2008

सुदर्शन कामरा , कई फ़िल्मों के लिए गीत लिखे

1921 -1980

अग्रणी प्रगतिशील शायरों में शामिल। मशहूर फ़िल्म गीतकार