Aftab Hussain's Photo'

आफ़ताब हुसैन

1962 | ऑस्ट्रिया

विख्यात पाकिस्तानी शायर, ऑस्ट्रिया में प्रवास, संजीदा शायरी पसंद करने वालों में प्रतिष्ठित।

विख्यात पाकिस्तानी शायर, ऑस्ट्रिया में प्रवास, संजीदा शायरी पसंद करने वालों में प्रतिष्ठित।

ग़ज़ल 35

शेर 39

कुछ और तरह की मुश्किल में डालने के लिए

मैं अपनी ज़िंदगी आसान करने वाला हूँ

किसी तरह तो घटे दिल की बे-क़रारी भी

चलो वो चश्म नहीं कम से कम शराब तो हो

अभी दिलों की तनाबों में सख़्तियाँ हैं बहुत

अभी हमारी दुआ में असर नहीं आया

हाल हमारा पूछने वाले

क्या बतलाएँ सब अच्छा है

चलो कहीं पे तअल्लुक़ की कोई शक्ल तो हो

किसी के दिल में किसी की कमी ग़नीमत है

पुस्तकें 6

फ़ल्सफ़-ए-मग़रिब की तारीख़

 

2010

मतला

 

1999

पाकिस्तान में तहजीब का इर्तिक़ा

 

1989

Science Aur Riyazi Ki Darsi Kitaben

 

1984

Urdu Tanqeed - Chand Manzilen

 

 

Urdu Zariy-e-Taleem Aur Istalahat

 

1965

 

ऑडियो 15

अपना दीवाना बना कर ले जाए

अस्ल हालत का बयाँ ज़ाहिर के साँचों में नहीं

कभी जो रास्ता हमवार करने लगता हूँ

Recitation

aah ko chahiye ek umr asar hote tak SHAMSUR RAHMAN FARUQI

संबंधित ब्लॉग

 

संबंधित शायर

  • अजमल सिराज अजमल सिराज समकालीन