Akram Naqqash's Photo'

अकरम नक़्क़ाश

गुलबर्गा, भारत

समकालीन शायरों में शामिल

समकालीन शायरों में शामिल

ग़ज़ल 16

शेर 13

इश्क़ इक ऐसी हवेली है कि जिस से बाहर

कोई दरवाज़ा खुले और दरीचा निकले

कुछ तो इनायतें हैं मिरे कारसाज़ की

और कुछ मिरे मिज़ाज ने तन्हा किया मुझे

मयस्सर से ज़ियादा चाहता है

समुंदर जैसे दरिया चाहता है

ई-पुस्तक 2

Hashr Si Yeh Barsaat

 

2009

Khana-e-Takallum

 

2016

 

"गुलबर्गा" के और शायर

  • दत्तात्रिया कैफ़ी दत्तात्रिया कैफ़ी
  • ज़िया ज़मीर ज़िया ज़मीर
  • स्वप्निल तिवारी स्वप्निल तिवारी
  • खलील तनवीर खलील तनवीर
  • शकील जमाली शकील जमाली
  • पॉपुलर मेरठी पॉपुलर मेरठी
  • अमीर इमाम अमीर इमाम
  • मतीन नियाज़ी मतीन नियाज़ी
  • मनीश शुक्ला मनीश शुक्ला
  • नवाज़ देवबंदी नवाज़ देवबंदी