अब उस ग़रीब चोर को भेजोगे जेल क्यूँ

ग़ुर्बत की जिस ने काट ली पादाश जेब में

अगर ये कह दो बग़ैर मेरे नहीं गुज़ारा तो मैं तुम्हारा

या उस पे मब्नी कोई तअस्सुर कोई इशारा तो मैं तुम्हारा