Ayub Sabir's Photo'

अय्यूब साबिर

1923 - 1989 | कोहट, पाकिस्तान

अय्यूब साबिर

ग़ज़ल 2

 

अशआर 2

शफ़क़ हूँ सूरज हूँ रौशनी हूँ

सलीब-ए-ग़म पर उभर रहा हूँ

कहा ये मैं ने भला कब कि मत सज़ा दीजे

मगर क़ुसूर तो मुझ को मिरा बता दीजे

  • शेयर कीजिए
 

Recitation

aah ko chahiye ek umr asar hote tak SHAMSUR RAHMAN FARUQI

Jashn-e-Rekhta | 2-3-4 December 2022 - Major Dhyan Chand National Stadium, Near India Gate, New Delhi

GET YOUR FREE PASS
बोलिए