Hilal Fareed's Photo'

मेडिकल डॉक्टर / लंदन में प्रवास

मेडिकल डॉक्टर / लंदन में प्रवास

हिलाल फ़रीद

ग़ज़ल 12

शेर 13

हम ख़ुद भी हुए नादिम जब हर्फ़-ए-दुआ निकला

समझे थे जिसे पत्थर वो शख़्स ख़ुदा निकला

आज हम से पूछिए कैसा कमाल हो गया

हिज्र के ख़ौफ़ में रहे और विसाल हो गया

  • शेयर कीजिए

ही बिजलियाँ ही बारिशें ही दुश्मनों की वो साज़िशें

भला क्या सबब है बता ज़रा जो तू आज भी नहीं सका

उस अजनबी से वास्ता ज़रूर था कोई

वो जब कभी मिला तो बस मिरा लगा मुझे

पानी पे बनते अक्स की मानिंद हूँ मगर

आँखों में कोई भर ले तो मिटता नहीं हूँ मैं

पुस्तकें 2

Jab Diyon Ke Sar Uthe

 

2011

Mazahiyat Ka Encyclopedia

 

2002

 

संबंधित शायर

  • शहपर रसूल शहपर रसूल समकालीन
  • नियाज़ जयराजपुरी नियाज़ जयराजपुरी समकालीन
  • महताब हैदर नक़वी महताब हैदर नक़वी समकालीन
  • आशुफ़्ता चंगेज़ी आशुफ़्ता चंगेज़ी समकालीन
  • नवाज़ देवबंदी नवाज़ देवबंदी समकालीन

"लंदन" के और शायर

  • साक़ी फ़ारुक़ी साक़ी फ़ारुक़ी
  • शोहरत बुख़ारी शोहरत बुख़ारी
  • अकबर हैदराबादी अकबर हैदराबादी
  • अख़्तर ज़ियाई अख़्तर ज़ियाई
  • यशब तमन्ना यशब तमन्ना
  • ज़ियाउद्दीन अहमद शकेब ज़ियाउद्दीन अहमद शकेब
  • सफ़दर हमदानी सफ़दर हमदानी
  • जौहर ज़ाहिरी जौहर ज़ाहिरी
  • ख़ालिद यूसुफ़ ख़ालिद यूसुफ़
  • अब्दुल हफ़ीज़ साहिल क़ादरी अब्दुल हफ़ीज़ साहिल क़ादरी